बाराबंकी। उ0प्र0 एहसास फ़ूड बैंक बाराबंकी द्वारा शहर के फुटपाथी जरूरतमंद लोगों को ठंढ से बचाने के लिए अभिनव कार्य किया जा रहा है। बीते 20 दिसम्बर से रात्रि 9 बजे के बाद शहर में फुटपाथ पर पाए जाने वाले, रैन बसेरों में रात्रि व्यतीत करने वाले, रिक्शो पर सोने वाले रिक्शा चालकों को गुड़ मूंगफली की पट्टी, रामदाने व लाई के लड्डू, गजक आदि खाने की सामग्री देकर उनको भूखे नही सोने व ठंढ से बचाने का कार्य किया जा रहा है। समाज सेवी व बेसिक उत्थान एवं ग्रामीण सेवा संस्थान के अध्यक्ष श्री रत्नेश कुमार के नेतृत्व में चाइल्ड लाइन की टीम के सहयोग रात्रि में रेलवे स्टेशन, देवा रोड, पटेल तिराहा, सतरिख नाका, धनोखर चौराहा कंपनी बाग चौराहा आदि स्थानों पर लगभग प्रति दिन लगभग 100 से 125 लोगों को गुड़ पट्टी, रामदाना व लाई के लड्डू चिक्की, गज़क आदि खाने की सामग्री वितरित किया जा रहा है, वितरण का यह कार्य शीत लहर तक निरंतर जारी रहेगा। समाजसेवी श्री रत्नेश कुमार ने बताया कि गुड़ मूंगफली, रामदाना खाने से जाड़े के मौसम में बहुत फायदा करता है, जो लोग ठंढ में रात्रि फुटपाथ पर बिताते हैं उन्हें ठंढ से बचाने में यह खाने वाली गुड़ मूंगफली रामदाना के लड्डू वितरित किया जा रहा है। फ़ूड बैंक का मकसद है कि किसी की भूख से वे ठंढ से जनहानि नही होनी चाहिए। श्री कुमार ने कहा कि एहसास फ़ूड बैंक बाराबंकी में पिछले अक्टूबर, 2017 से निरंतर 100 बेसहारा लोगों को भोजन कराने के लिए राशन किट का वितरण किया जा रहा है जो निरंतर जारी रहेगा। ठंढ में फुटपाथी जीवन को भी बचाना हमारा व फ़ूड बैंक कर्तव्य है, जिसे शचि सिंह के सहयोग से पूरा किया जा रहा है।